Mere Jeevan Ka Makasad Tu Hain Mere Jeevan Ka Kaaran Tu Hain

mere jeevan ka makasad tu hain,
mere jeevan ka kaaran tu hain ,
main jeeun, ya maru bas tere liye hai, tu mera prabhu.

pichala sab bhulakar,main aage dauda chalu
jo mere liye dhan tha, usako main tyag du
ki main paun us se purashakar,dauda main jaun

mujh par huee hai krupa,bekar na jane du
jisane mujhe hai chuna ,usaki our main badhu
dekhu teri salib par,khicha main jaun

मेरे जीवन का मकसद तू हैं,
मेरे जीवन का कारण तू हैं ,
मैं जीऊं ,या मरूं बस तेरे लिये है, तू मेरा प्रभु।

पिछला सब भूलकर,मैं आगे दौड़ा चलू
जो मेरे लिये धन था, उसको मैं त्याग दू
की मैं पाऊं उससे पुरसकार,दौड़ा मैं जाऊं

मुझ पर हुई है कृपा,बेकार ना जाने दू
जिसने मुझे है चुना ,उसकी ओर मैं बढू
देखूं तेरी सलीब पर,खीचा मैं जाऊॅ

Leave a Reply

Your email address will not be published.